लोहिया स्वच्छ बिहार अभियान के तहत कड़हरवा पंचायत में जागरूकता कार्यक्रम किया आयोजन। 

TRIVENIGANJ/ SUPAUL: लोहिया स्वच्छ बिहार अभियान स्वच्छ गांव हमारा गौरव सामुदायिक जागरूकता कार्यक्रम के तहत प्रखंड क्षेत्र के कड़हरवा पंचायत मे मुखिया पार्वती देवी की अध्यक्षता में जागरूकता अभियान से संबंधित जिला आए पदाधिकारी ने कार्यक्रम किया,कार्यक्रम में डीआरडीए निदेशक वृजबिहारी भगत, स्वच्छता के जिला समन्वयक शंभू शरण,प्रखंड स्वच्छता कोऑर्डिनेटर अरविंद कुमार एवं मनरेगा पीओ विजय कुमार नीलम, कड़हरवा पंचायत के मुखिया पार्वती देवी एवं स्वच्छता ग्राही मौजूद थे, कार्यक्रम में हजारों की संख्या में महिला व पुरुष शामिल हुए कार्यक्रम को संबोधित करते हुए , डीआरडीए श्री बृज बिहारी  भगत ने कहा कि लोहिया स्वच्छ बिहार अभियान अंतर्गत ठोस एवं तरल अपशिष्ट प्रबंधन के सफल क्रियान्वयन के लिए सामुदायिक जागरूकता आवश्यक है, वित्तीय वर्ष 2021-22 में चयनित पंचायतों में वार्ड स्तर पर प्रत्येक परिवार को जागरूक करना होगा, गांव के वातावरण को स्वच्छ व शुद्ध बनाना सरकार का उदेश्य है, जब वातावरण स्वच्छ होगा तो लोग कम बिमार पडेंगे, गांव को पूर्णरूपेण स्वच्छ करने के लिए भले ही सरकार ने यह अभियान चलाया है, लेकिन इसके सफलता की जिम्मेवारी आपसबों की है, अपशिष्ट प्रबंधन के कार्य को सफल बनाने से वर्तमान सुरक्षित होगा, आने वाली पिढी को भी बेहतर भविष्य दे पायेंगे, श्री भगत ने यह भी बताया कि जिस तरह से मानव मल को जमीन के अंदर पहूंचाते हैं उसी तरह छत या परिसर में जमाव होने वाले जल को संचयित कर उसे जमीन के अंदर पहूंचाना है, इसके लिए जमीन के अंदर पाईप डालकर व सोख्ता का निर्माण कर जल को जमीन में पहूंचा सकते है, इससे जलजमाव की समस्या खत्म होगी और जमीन के अंदर जल का स्तर भी बढेगा, जल का दुरुपयोग नहीं करने की सलाहियत देते उन्होने फव्वारा विधि से फसल की सिंचाई करने का अनुरोध किया। स्वच्छता के जिला समन्वयक शंभू शरण ने कहा प्रथम चरण पंचायत का ओडीएफ हुआ था। जहां अधिकांश लोग आज अपने शौचालय का उपयोग करते हैं। दूसरे फेज में सरकार के द्वारा स्वच्छ गांव हमारा गौरव अभियान के तहत कार्यक्रम को चलाया जा रहा है। भारत सरकार ने पूरे देश में यह कार्यक्रम का चलाया है। सरकार के द्वारा हर घर में शौचालय का निर्माण हो इसके लिए और हर आदमी शौचालय का उपयोग करे। इसके लिए एक बहुत बड़ा अभियान चलाकर लोगों को जागरूक किया और जो लोग शौचालय का निर्माण कर लिए वैसे व्यक्ति को सरकार ने अनुदान की राशि भी दी। जो लोग अनुदान राशि से वंचित रह गए वैसे लोगों को भी अनुदान की राशि दी जानी है। कहा कि पंचायत के सभी घरों को दो डस्टबिन दिया हरे रंग के डस्टबीन में तरल कचरा रखना है, नीले रंग के डस्टबीन में सुखा कचरा रखा जायेगा। उस डस्टबिन में अलग अलग गीला और सूखा कचरा रखा जायेगा। तय समय पर पंचायत में स्वच्छता कर्मी घर घर जाकर सीटी बजायेंगे और कचरा का उठाव करेंगे, उठाव के बाद वार्ड अस्तर पर उसको जमा किया जाएगा। जहां से जमा कचरे को ई-रिक्शा पर लादकर उसे ड्रेपिंग सेंटर पर लाया जाएगा, उन्होंने कहा गीले और सूखे कचरे का संग्रह कर पंचायत में बने प्लेटफार्म में जाकर डाल देंगे। कहा कि इसके लिए सभी लोगों को जागरूक होना बहुत ही जरूरी है। वही प्रखंड प्रखंड स्वच्छता कोऑर्डिनेटर अरविंद कुमार ने कहा इसका ख्याल अवश्य रखें, ताकि उठाव व उसके निरस्त्रीकरण में स्वच्छता कर्मियों को सुविधा हो सके, कार्यक्रम में शामिल लोगों को सुनी गई बातों पर अमल करने तथा आसपड़ोस के लोगों को भी जागरूक करने का अनुरोध किया,

पप्पू आलम सुपौल

व्हाट्सप्प आइकान को दबा कर इस खबर को शेयर जरूर करें

विज्ञापन बॉक्स (विज्ञापन देने के लिए संपर्क करें)


स्वतंत्र और सच्ची पत्रकारिता के लिए ज़रूरी है कि वो कॉरपोरेट और राजनैतिक नियंत्रण से मुक्त हो। ऐसा तभी संभव है जब जनता आगे आए और सहयोग करे
Donate Now
               
हमारे  नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट , और सभी खबरें डाउनलोड करें
डाउनलोड करें

जवाब जरूर दे 

क्या आप मानते हैं कि कुछ संगठन अपने फायदे के लिए बंद आयोजित कर देश का नुकसान करते हैं?

View Results

Loading ... Loading ...


Related Articles

Back to top button
Close
Website Design By Bootalpha.com +91 84482 65129