भागलपुर:उद्योग मंत्री सैयद शाहनवाज हुसैन ने बांका को दी ‘डाय हाउस’ और ‘कोकून बैंक’ की सौगात, मुख्यमंत्री उद्यमी योजना के लाभार्थियों को स्वीकृति पत्र सौंपने के साथ बुनकर महिलाओं को थाई रीलिंग मशीनें भी बांटी, कहा बिहार में चप्पे-चप्पे में उद्योग लगने तक चैन से नहीं बैठेंगे – सैयद शाहनवाज हुसैन

भागलपुर :बिहार के उद्योग मंत्री सैयद शाहनवाज हुसैन ने अपने एक दिवसीय बांका दौरे के दौरान जिले के लोगों को कई सौगातें दी। अमरपुर में उन्होंने 50 लाख की राशि से धागे व कपड़ों की रंगाई के लिए अत्याधुनिक ‘डायइंग हाउस’ का उद्घाटन किया तो कटोरिया में उन्होंने 40.43 लाख की लागत से निर्मित कोकून बैंक का भी शुभारंभ किया। रविवार को एक दिन के दौरे पर बांका पहुंचे बिहार के उद्योग मंत्री सैयद शाहनवाज हुसैन ने मुख्यमंत्री उद्यमी योजनाओं के तहत जिले में चयनित लाभार्थियों को 5 लाख ऋण और 5 लाख मामूली ब्याज पर अनुदान का स्वीकृति पत्र सौंपा तो बुनकर महिलाओं को सूत कताई आसान बनाने के लिए थाई रीलिंग मशीनें भी बांटी। बांका से रवाना होने से पहले उन्होंने समुखिया मोड़ स्थित पुरानी सेरेमिक टाइल्स फैक्ट्री का भी निरीक्षण किया और भविष्य में टाइल्स उद्योग को यहां पुनर्जीवित करने की संभावना पर विचार किया।इन कार्यक्रमों के दौरान बिहार सरकार के ग्रामीण कार्य मंत्री जयंत राज, बांका के सांसद गिरधारी यादव, पूर्व सांसद पुतुल देवी, स्थानीय विधायक रामनारायण मंडल, निकी हेंब्रम, मनोज यादव, बिहार विधान परिषद सदस्य विजय सिंह समेत उद्योग विभाग के विशेष सचिव दिलीप कुमार और जिले के सभी संबंधित विभागीय अधिकारी व अन्य मौजूद रहे।उद्योग मंत्री सैयद शाहनवाज हुसैन ने ग्रामीण कार्य मंत्री जयंत राज, बांका सांसद गिरधारी यादव और तमाम स्थानीय विधायकों व विधान परिषद सदस्य के साथ जिले में चल रही उद्योग विभाग की तमाम योजनाओं की समीक्षा भी जिला समाहरणालय सभाकक्ष में जिलाधिकारी अंशुल कुमार द्वारा रखी गई बैठक में की, जिसमें जिले में उद्योगों की स्थापना में तेजी लाने के लिए हर पहलुओं पर विचार करने के साथ मौजूदा योजनाओं को भी जमीन पर तेजी से उतारने के लिए निर्देश दिए गए।समीक्षा बैठक में उद्योग मंत्री शाहनवाज हुसैन ने जिलाधिकारी अंशुल कुमार से कहा कि बांका में ज्यादा से ज्यादा जमीन चिन्हित करें जहां पर उद्योगों की स्थापना की जा सके। उन्होंने कहा कि जब तक बिहार के चप्पे चप्पे में उद्योग नहीं लग जाएगा, तब तक वो चैन से बैठने वाले नहीं हैं। उन्होंने कहा कि बांका में भी टाइल्स से लेकर टैक्सटाइल तक हर तरह के उद्योगों की संभावना है जिसे जमीन पर उतारने के लिए वो निरंतर प्रयत्नशील हैं ।उन्होंने कहा कि बांका में मुख्यमंत्री उद्यमी योजनाओं के तहत 310 लाभार्थी चयनित हुए हैं और उद्योग शुरू करने की अन्य योजनाओं के तहत भी 14 उद्यमियों को सरकारी सहायता का लाभ दिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि इनमें से 82 उद्यमियों को उद्योग शुरू करने के लिए 3 करोड़ 28 लाख रुपए वितरित किए जा चुके हैं।उद्योग मंत्री सैयद शाहनवाज हुसैन ने कहा कि उद्योग और उद्यमिता को बढ़ावा देने के लिए बिहार में जैसी योजनाएं चल रही हैं वो पूरे देश में नहीं है।उन्होंने बांका में कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि 12 मई को दिल्ली में काफी लंबे अंतराल के बाद हुआ बिहार इन्वेस्टर्स मीट 2022 काफी सफल रहा। उन्होंने कहा कि बिहार में निवेश के बड़े बड़े प्रस्ताव मिल रहे हैं और बिहार उद्योगों की स्थापना के लिए निवेशकों की पसंद बन चुका है इसलिए अब हमें आगे की तैयारी करनी है। उन्होंने कहा कि उद्योग के लिए ज्यादा से ज्यादा जमीन मिल सके, ये बेहद जरूरी है।उन्होंने कहा कि हम बड़े उद्योग के साथ-साथ पारंपरिक और छोटे उद्योगों को भी आगे बढ़ाने में कोई कसर नहीं छोड़ रहे हैं। उन्होंने कहा कि 50 लाख की लागत से निर्मित ‘डाय हाउस’ से समस्त बांका जिले में 3000 से ज्यादा बुनकरों को लाभ मिलेगा। धागों और कपड़ों की गुणवत्ता पूर्ण रंगाई से न सिर्फ इनकी मांग बढ़ेगी बल्कि बुनकरों की आमदनी बढ़ाने में भी यह मददगार होगा। उन्होंने कहा कि इसी तरह मुख्यमंत्री तसर विकास योजना के तहत कोकून बैंक की भी स्थापना बिहार के पारंपरिक उद्योग से जुड़े लोगों की मदद के लिए की गई है। उन्होंने कहा कि कटोरिया में बने कोकून बैंक में एक करोड़ तसर कोकून रखने की व्यवस्था है। इसकी स्थापना से बुनकरों को सही समय पर और उचित मूल्य पर कोकून उपलब्ध मिलेगा जिससे उन्हें फायदा होगा।बांका जिले के एक दिवसीय दौरे के दौरान बिहार के उद्योग मंत्री सैयद शाहनवाज हुसैन ने मुख्यमंत्री उद्यमी योजनाओं के तहत चयनित लाभार्थियों के साथ उद्यमी सम्मेलन कार्यक्रम के जरिए संवाद भी किया और उन्हें नया उद्योग संपूर्ण समर्पण और निष्ठा से शुरू करने के लिए प्रोत्साहित किया। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री उद्यमी योजना के तहत दी जाने वाली 10 लाख की मदद बिहार के युवाओं को आत्मनिर्भर और उद्यमी बनने का बहुत बड़ा अवसर देता है। बिहार के युवाओं को चाहिए कि इस अवसर का लाभ उठाएं और इसे किसी हाल में बेकार न होने दे।

भागलपुर से बालमुकुंद कुमार की रिपोर्ट

व्हाट्सप्प आइकान को दबा कर इस खबर को शेयर जरूर करें

विज्ञापन बॉक्स (विज्ञापन देने के लिए संपर्क करें)


स्वतंत्र और सच्ची पत्रकारिता के लिए ज़रूरी है कि वो कॉरपोरेट और राजनैतिक नियंत्रण से मुक्त हो। ऐसा तभी संभव है जब जनता आगे आए और सहयोग करे
Donate Now
               
हमारे  नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट , और सभी खबरें डाउनलोड करें
डाउनलोड करें

जवाब जरूर दे 

क्या आप मानते हैं कि कुछ संगठन अपने फायदे के लिए बंद आयोजित कर देश का नुकसान करते हैं?

View Results

Loading ... Loading ...


Related Articles

Back to top button
Close
Website Design By Bootalpha.com +91 84482 65129