गृह विभाग के अपर मुख्य सचिव चैतन्य प्रसाद पहुंचे सुपौल, अधिकारियों को दिए कई दिशा निर्देश….

सुपौल: बिहार सरकार के अपर मुख्य सचिव गृह विभाग चैतन्य प्रसाद बुधवार को सुपौल पहुंचे। जहां उन्होंने सबसे पहले मंडल कारा का निरीक्षण किया। जेल की व्यवस्था से संतुष्ट दिखे लेकिन अंदर शौचालय आदि की साफ-सफाई पर विशेष रूप से ध्यान देने को कहा। इस दौरान उन्होंने सभी कैदी वार्डों का जायजा लिया और वस्तु स्थिति से अवगत हुए। जिसके बाद वे नए पुलिस लाइन पहुंचे जहां पुलिस कर्मियों की समस्याओं को सुना। इस दौरान उनके साथ डीआईजी कोसी रेंज शिवदीप लांडे सहित जिलाधिकारी कौशल कुमार, पुलिस अधीक्षक डी अमरकेश भी मौजूद रहे। नए पुलिस लाइन में पौधारोपण कर उन्होंने पर्यावरण संरक्षण का संदेश भी दिया। अपने सुपौल दौरे के दौरान उन्होंने बिहार के अधिकांश जेलों में क्षमता से अधिक कैदी रहने पर चिंता जाहिर करते हुए कहा कि जहां -जहां क्षमता से अधिक कैदी हैं वहां से अन्य जेलों में ट्रांसफर करने पर विचार किया जा रहा है। वहीं उन्होंने मंडल कारा में कैदियों की अधिक संख्या के कारण बैरक निर्माण कार्य कराने की भी बात कही। पुलिस लाइन के संदर्भ में कहा कि अभी तो नया बना है,अच्छा है, सबकुछ अच्छा से चल रहा है। पानी में आयरन की समस्या के बारे में जानकारी मिली है, वैसे आयरन रिमूवल प्लांट तो लगा हुआ है. लेकिन अलग से फिल्टरेशन की आवश्यकता है। उसके लिए भी प्रयास करेंगे.

निरीक्षण के बाद अधिकारी के साथ की समीक्षा बैठक।वही समाहरणालय स्थित टीसीपी भवन में चैतन्य प्रसाद ने अधिकारीयों के साथ समीक्षा बैठक की. बैठक में कोशी रेंज के डीआईजी शिवदीप लांडे, सुपौल डीएम कौशल कुमार, सुपौल एसपी डी अमरकेश त्रिवेणीगंज एसडीओ एस जेड हसन,त्रिवेणीगंज डीएसपी गणपति ठाकुर सहित कई अधिकारी मौजूद थे, बैठक में अपर मुख्य सचिव के द्वारा कब्रिस्तान घेराबंदी. एवं मंदिर चारदीवारी निर्माण , विधि व्यवस्था .भूमि सुधार. अभियोजन स्वीकृत .स्पीडी ट्रायल. सांप्रदायिक घटनाओं की रोकथाम, सीएस के मामले के अनुश्रवण, गंभीर एवं जघन्य कांडों का त्वरित विचारण, पुलिस थाना, ओपी पुलिस,पुलिस केंद्र के लिए भूमि की उपलब्धता, यातायात की समस्या व यातायात थाने से जुड़ी मामले एवं चेक पोस्ट क्षेत्रीय विधि विज्ञान प्रयोगशाला, पुलिस पेट्रोलिंग, पैदल गस्ती ,जीपीएस अधिष्ठापन, एस सी/ एस टी अपराध से जुड़े मामले, वारंट,गिरफ्तारी, कुर्की जब्ती की स्थिति, गंभीर कांडों का त्वरित अनुसंधान ,अपराध नियंत्रण हेतु निरोधात्मक कार्रवाई, प्रभारी गस्ती की व्यवस्था, कारा मे बंद अपराधियों की निगरानी, द0प्र0स0 के अंतर्गत निरोधात्मक कार्रवाई, अंचलाधिकारी एवं थाना अध्यक्ष की संयुक्त बैठक का नियमित संचालन एवं सुने गए मामले का पंजी में संधारण सहित कई महत्वपूर्ण विषय पर समीक्षा की गई, समीक्षा के क्रम में उपर मुख्य सचिव चैतन्य प्रसाद ने सभी संबंधित पदाधिकारियों को विषयवार लंबित कांडों को यथाशीरध यथाशीध्र पूर्ण कराने का निर्देश दिया। उन्होंने पुलिस अधीक्षक सुपौल डी अमरकेश को माननीय न्यायालय द्वारा निर्गत वारंट शत प्रतिशत गिरफ्तारी सुनिश्चित कराने का निर्देश दिया गया. साथ ही कटैया फायरिंग रेंज में मूलभूत सुविधा की व्यवस्था हेतु प्रस्ताव विभाग को भेजने का भी निर्देश दिया गया.उन्होंने सभी अनुमंडल पदाधिकारी को निर्देश दिया कि भूमि विवाद संबंधी मामले नियमित सुनवाई का यथाशीघ्र निष्पादन करे। वही चैतन्य प्रसाद ने सुपौल डीएम कौशल कुमार को अपने स्तर से भूमि विवाद से संबंधित मामले का नियमित समीक्षा करने का निर्देश दिया।उनहोंने सभी अंचलाधिकारी एवं थाना अध्यक्ष को नियमित साप्ताहिक बैठक आयोजित कर भूमि विवाद के मामले का निष्पादन करानेे का निर्देश दिया .साथ ही संबंधित पदाधिकारियों को सड़क दुर्घटना पर नियंत्रण हेतु रणनीति बना कर आवश्यक कार्रवाई करने का निर्देश दिया.

व्हाट्सप्प आइकान को दबा कर इस खबर को शेयर जरूर करें

विज्ञापन बॉक्स (विज्ञापन देने के लिए संपर्क करें)


स्वतंत्र और सच्ची पत्रकारिता के लिए ज़रूरी है कि वो कॉरपोरेट और राजनैतिक नियंत्रण से मुक्त हो। ऐसा तभी संभव है जब जनता आगे आए और सहयोग करे
Donate Now
               
हमारे  नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट , और सभी खबरें डाउनलोड करें
डाउनलोड करें

जवाब जरूर दे 

क्या आप मानते हैं कि कुछ संगठन अपने फायदे के लिए बंद आयोजित कर देश का नुकसान करते हैं?

View Results

Loading ... Loading ...


Related Articles

Back to top button
Close
Website Design By Bootalpha.com +91 84482 65129