त्रिवेणीगंज में मातृत्व अभियान:शिविर में 446 गर्भवतियों की हुई प्रसव पूर्व जांच, दी गई मुफ्त दवा.

त्रिवेणीगंज (सुपौल):- प्रधानमंत्री मातृत्व सुरक्षा कार्यक्रम के तहत अनुमंडलीय रेफरल अस्पताल में शुक्रवार को 305 गर्भवती महिलाओं की जांच की गई .वही कोरियापट्टी में 141 कुल मिलाकर 446 गर्भवती महिलाओं की जांच आज हुईं .इस दौरान कई स्टॉल लगाए गए, जहां गर्भवती महिलाओं के स्वास्थ्य की जांच की गई.एसडीएम एसजेड हसन ने खुद अनुमंडल रेफरल अस्पताल पहुंच कर शिविर में उपस्थित गर्भवती महिलाओं की डॉक्टरों द्वारा की जा रही जांच की जानकारी ली। वे पीएम सुरक्षित मातृत्व सुरक्षा कार्यक्रम की व्यवस्था से संतुष्ट दिखे। सिविल सर्जन सुपौल डॉक्टर मिहिर वर्मा भी पहुंचे. वहीं उपस्थित महिलाओं से एसडीएम एस जेड हसन ने कहा कि मातृत्व सुरक्षा के प्रति सभी लोगों को जागरूक होना आवश्यक हैं। जिससे गर्भावस्था में समुचित देख भाल हो सके। सरकार द्वारा चलाये जा रहे कार्यक्रम को गांव स्तर जागरूक होकर अधिक से अधिक महिला अपनी प्राथमिक स्वास्थ्य जांच कर खुशहाल परिवार बना सकती हैं। गर्भधारण से लेकर सुरक्षित प्रसव तक सावधानी बरती जाए। वहीं उपस्थित चिकित्सक से सारी बातों की जानकारी प्राप्त कर कई दिशा निर्देश दिए। अस्पताल मैनेजर आबिद हमीद ने बताया कि प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान सफलतापूर्वक चलाया जा रहा है। इस महत्वाकांक्षी योजना के तहत गर्भवती महिलाओं को स्वास्थ्य की सभी प्रकार की सेवाएं प्रत्येक माह की 9 तारीख को दिए जाने का प्रावधान है।इस दौरान त्रिवेणीगंज रेफरल अस्पताल में 306 एवं कोरियापट्टी में 141 गर्भवतियों की प्रसव पूर्व देखभाल से जुड़ी जांच की गई। शिविर में आयी महिलाओं को परिवार नियोजन सहित अन्य स्वास्थ्य योजनाओं की जानकारी भी दी गयी।इस मौके पर स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉक्टर जिन्नत परवीन ने कहा अभियान के तहत अस्पतालों में गर्भवती महिलाओं की ब्लड प्रेशर, हिमोग्लोबिन, यूरिन, शुगर, वजन, सिफलिस, हाॅपर थाइराइड की जांच निःशुल्क की जाती है। प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान केंद्र सरकार का महत्वपूर्ण अभियान है। इसका मुख्य उद्देश्य गर्भवती महिला की समय-समय पर जांच करवाकर स्वयं महिला एवं होने वाले बच्चे के जीवन को खतरे से बचाना है। अभियान के दौरान गर्भवती महिलाओं का टीकाकरण कर आयरन की गोलियां दी गई। गर्भवती महिलाओं को प्रसवकाल के दौरान बरती जाने वाली सावधानियों के बारे में बताया और प्रत्येक गर्भवती महिला को नियमित जांच कराने तथा सुरक्षित संस्थागत प्रसव कराने के लिए भी प्रेरित किया गया। इस अभियान का मुख्य उद्देश्य गर्भवती महिलाओं के जटिल प्रसव का पता लगाना सुरक्षित प्रसव करवाना है। गर्भवती महिलाओं को खानपान अलावा अन्य पौष्टिक आहार लेने की सलाह दी जाती है. इससे होने वाले खतरों से गर्भवती को बचाया जा सके। गर्भवती किसी परेशानी में कतई न घबराएं वह स्वास्थ्य केंद्रों पर नियमित रूप से जांच और टीकाकरण के लिए आएं, जिससे उनकी परेशानी को समय से दूर किया जा सके। मोके पर मौके पर मोहम्मद इश्तियाक के अलावे अन्य स्वास्थ्य कर्मी मौजूद थे.

व्हाट्सप्प आइकान को दबा कर इस खबर को शेयर जरूर करें

विज्ञापन बॉक्स (विज्ञापन देने के लिए संपर्क करें)


स्वतंत्र और सच्ची पत्रकारिता के लिए ज़रूरी है कि वो कॉरपोरेट और राजनैतिक नियंत्रण से मुक्त हो। ऐसा तभी संभव है जब जनता आगे आए और सहयोग करे
Donate Now
               
हमारे  नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट , और सभी खबरें डाउनलोड करें
डाउनलोड करें

जवाब जरूर दे 

क्या आप मानते हैं कि कुछ संगठन अपने फायदे के लिए बंद आयोजित कर देश का नुकसान करते हैं?

View Results

Loading ... Loading ...


Related Articles

Back to top button
Close
Website Design By Bootalpha.com +91 84482 65129