मिथिला और कोसी में विकास के कार्यों को आगे बढ़ाना ही ललित बाबू को सच्ची श्रद्धांजलि : संजय कुमार झा

सुपौल: जिले के बलुआ में पूर्व रेल मंत्री स्वर्ग ललित नारायण मिश्र की 49 वीं पुण्यतिथि मंगलवार को बलुआ बाजार स्थित समाधि स्थल पर राजकीय समारोह का आयोजन किया गया।इस कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में बिहार सरकार के जल संसाधन सह सूचना एवं जनसंपर्क मंत्री श्री संजय कुमार झा शिरकय किए। पूर्व रेल मंत्री स्व ललित नारायण मिश्र के बलिदान दिवस के अवसर पर उनके प्रतिमा पर अधिकारी सहित कार्यक्रम में राज्य सरकार के प्रतिनिधि के रूप में शामिल हुए मंत्री श्री संजय कुमार झा ने ललित बाबू के चित्र पर अपनी ओर से और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की ओर से पुष्प अर्पित कर उन्हें श्रद्धांजलि दी। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए मंत्री संजय कुमार झा ने कहा कि ललित बाबू आज भी मिथिलावासियों की स्मृतियों में जिंदा हैं। उनके द्वारा किये गये विकास के कामों की चर्चा उनके जाने के 48 साल बाद भी पूरे मिथिला और कोसी क्षेत्र में सुनाई देती है। उनके द्वारा शुरू की गई पश्चिमी कोसी नहर परियोजना को पूरा करने और मिथिला के विकास के उनके सपनों को साकार करने के लिए तत्परता से प्रयास किये जा रहे हैं। श्री संजय कुमार झा ने कहा कि ललित बाबू स्वतंत्र भारत के पहले कैबिनेट मंत्री थे, जिनकी हत्या की गई। लेकिन, हत्या किसने करवाई, यह 48 साल बाद भी पहेली ही है। हालांकि सीबीआई जांच हुई, सुप्रीम कोर्ट में सालों तक सुनवाई चली, लेकिन कोई ठोस नतीजा नहीं निकला और कई सवाल आज भी अनसुलझे हैं। हम सभी मिथिला और कोसी निवासी उनकी हत्या की हकीकत जानना चाहते हैं।श्री संजय कुमार झा ने कहा कि ललित बाबू का जन्म भले ही सुपौल जिले में हुआ, लेकिन राजनीतिक जीवन में वे दरभंगा और मधुबनी सहित संपूर्ण मिथिला को विकास की मुख्यधारा से जोड़ने के लिए प्रयासरत रहे। इस दौरान मेरे गांव अररिया संग्राम में भी उनका आना-जाना रहा और मेरे परिवार को लोगों के साथ लगाव रहा। ललित बाबू का व्यक्तित्व और कृतित्व हम सब के लिए सदैव प्रेरणास्रोत बना रहेगा। श्री संजय कुमार झा ने कहा कि मिथिला और कोसी में विकास के कार्यों को आगे बढ़ाना ही ललित बाबू को सच्ची श्रद्धांजलि होगी। विदेश व्यापार मंत्री के रूप में ललित बाबू ने पश्चिमी कोसी नहर के निर्माण के लिए भारत-नेपाल समझौता कराया था। मिथिला की यह महत्वाकांक्षी परियोजना विभिन्न कारणों से दशकों बाद भी पूरी नहीं हो सकी। पिछले कुछ वर्षों से जल संसाधन विभाग इसे पूरा करने में तत्परता से जुटा है।श्री झा ने कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के नेतृत्व में पिछले 17 वर्षों में मिथिला सहित पूरे बिहार में जिस रफ्तार से गांव-गांव तक सड़क और बिजली पहुंची है, वह ऐतिहासिक है। अब राज्य का बुनियादी ढांचा दुरुस्त हो चुका है तो बिहार विकास की एक नई छलांग लगाने के लिए तैयार है।उन्होंने कहा कि बिहार और खासकर उत्तर बिहार में तरक्की की राह में सबसे बड़ी बाधा है हर साल आने वाली बाढ़। बाढ़ के प्रभाव को साल-दर-साल कम करने के लिए जल संसाधन विभाग ने पिछले कुछ वर्षों में कई महत्वपूर्ण योजनाओं को धरातल पर उतारा है। इससे मिथिला और कोसी में हजारो एकड़ कृषि योग्य भूमि को बाढ़ और जलजमाव से मुक्ति मिली है। हजारो एकड़ भूमि में फिर से खेती शुरू होने से बड़ी संख्या में किसानों और खेत-मजदूरों को लाभ हुआ है। कहा कि मिथिला में कमला नदी की बाढ़ से स्थायी सुरक्षा के लिए जयनगर में 405 करोड़ रुपये की लागत से बराज बन रहा है और कमला के दोनों तटबंधों को 325 करोड़ रुपये की लागत से ऊंचा तथा सुदृढ़ कर उस पर रोड बन रहा है। इससे तीन जिलों में लाखो लोगों की बाढ़ से सुरक्षा सुनिश्चित हुई है।उन्होंने कहा कि कोसी नदी की बाढ़ के प्रभाव को कम करने के लिए इसके तटबंध पर पिछले वर्षों में कई स्थानों पर बाढ़ सुरक्षात्मक कार्य कराया गया है। वीरपुर (सुपौल) में देश का दूसरा फिजिकल मॉडलिंग सेंटर बन रहा है, जिससे कोसी नदी की बाढ़ से सुरक्षा से संबंधित योजनाओं में और तेजी आएगी। योजना के निर्माण से पूर्व रीवर स्टडी के लिए पुणे जाना पड़ता था, जिसमें न केवल समय लगता था, बल्कि करोड़ों रुपये खर्च भी होते थे।इस मौके पर क्षेत्रवासियों ने मंत्री संजय कुमार झा से कुछ मांगें भी रखीं। श्री संजय कुमार झा ने कहा कि वे क्षेत्रवासियों की मांगों पर गंभीरता से विचार करते हुए जल संसाधन विभाग तथा माननीय मुख्यमंत्री जी के माध्यम से उनके समाधान के लिए प्रयास करेंगे। मालूम हो कि प्रत्येक वर्ष 3 जनवरी को स्वर्ग ललित नारायण मिश्र की पुण्यतिथि राजकीय समारोह के रूप में मनाया जाता है. इस मौके पर एसपी सुपौल डी अमरकेश, एसडीओ त्रिवेणीगंज एसजेड हसन, डीएसपी त्रिवेणीगंज विपिन कुमार, एसडीएम प्रमोद कु सीओ दिनेश प्रसाद, बीडिओ छातापुर रितेश कुमार रंजन, सहित कई अधिकारी समेत गणमान्य मौजूद थे।

व्हाट्सप्प आइकान को दबा कर इस खबर को शेयर जरूर करें

विज्ञापन बॉक्स (विज्ञापन देने के लिए संपर्क करें)


स्वतंत्र और सच्ची पत्रकारिता के लिए ज़रूरी है कि वो कॉरपोरेट और राजनैतिक नियंत्रण से मुक्त हो। ऐसा तभी संभव है जब जनता आगे आए और सहयोग करे
Donate Now
               
हमारे  नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट , और सभी खबरें डाउनलोड करें
डाउनलोड करें

जवाब जरूर दे 

क्या आप मानते हैं कि कुछ संगठन अपने फायदे के लिए बंद आयोजित कर देश का नुकसान करते हैं?

View Results

Loading ... Loading ...


Related Articles

Back to top button
Close
Website Design By Bootalpha.com +91 84482 65129