त्रिवेणीगंज में रिटाईर फौजी के बेटे पर हुए रंगदारी वसूली करने के विरुद्ध प्राथमिक दर्ज.

सुपौल: जिले के त्रिवेणीगंज थाना क्षेत्र अंतर्गत मटकुरिया वार्ड नंबर 6 निवासी रिटायर फौजी प्रेम लाल यादव के पुत्र दीपक कुमार यादव पर रंगदारी मामले को लेकर थाने में प्राथमिक दर्ज की गई. वही गजेंद्र यादव साकीन लतौना थाना त्रिवेणीगंज निवासी ने बीते 24 सितम्बर 2022 को स्थानीय थाना में डाक से लिखित आवेदन भेज कर आरोप लगाया कि दीपक कुमार यादव पिता रिटाईर फोजी प्रेम लाल यादव ने मेरे फोटो स्टेंट दुकान पर आकर फोटो स्टेंट करवाकर रुपया नही देने का काम करता है रुपया मांगने पर मुझे धमकी देता है कि फोटो स्टेंट में बहुत माल कमाते हो तुम प्रतिमाह दो हजार रुपया दिया करो हमने कहा हम गरीब आदमी हुॅ फोटो स्टेंट  का दुकान खोल कर फोटो स्टेंट एवं फार्म बेच कर अपना परिवार का गुजर-बसर करता हूं कहां से प्रतिमाह दो हजार रूपया देंगे.उसी पर दीपक कुमार ने कहा रुपया तो देना ही पड़ेगा रुपया नहीं दिया तो यहां से दुकान हटवा देंगे बीडीओ, सीओ,एसडीओ ,पत्रकार, पुलिस मेरे जेब में है. मेरे पिता प्रेमलाल यादव रिटाईर फोजी है. मैं खुद पत्रकार हूं रुपया नही दिया तो रेफ व अन्य केस करवा देंगे अंत में नहीं मानेगा तो जान से भी मरवा देंगे जाते-जाते यह भी कहा पुलिस थाना का तो धमकी देना ही नहीं वह तो मेरा घर है देखते हैं मेरा कौन क्या उखाड़ लेता है. स्थानीय थाने में आवेदन देने के बावजूद पुलिस की ओर से कोई कार्यवाही नहीं करने के बाद वही गजेंद्र यादव ने निराश होकर इस आवेदन को बिहार मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के ईमेल पर भेजकर कार्रवाई करने की गुहार लगाई मुख्यमंत्री ने इस आवेदन को संज्ञान लेते हुए त्वरित कार्रवाई करने हेतु एसपी सुपौल डी अमरकेश को आदेश दिया। एसपी सुपौल के द्वारा उक्त आवेदन की जांच कर कार्रवाई करने का आदेश 14 दिसंबर 2022 त्रिवेणीगंज थाना अध्यक्ष संदीप कुमार सिंह को दिया. थाना अध्यक्ष संदीप कुमार सिंह आवेदन के उपरांत जांच करने में एक महीने लगा दिए. जांच पूरी करने के बाद 16 जनवरी 2023 को दीपक कुमार यादव पिता रिटाईर फोजी प्रेमलाल यादव के खिलाफ कांड संख्या 18/23 धारा 385/ 506 के तहत दर्ज किया.

अब सवाल पुलिस कप्तान से है

कप्तान साहब आखिर किन स्थिति में या किसके दबाव में इस दीपक कुमार यादव पर थाना प्रभारी संदीप कुमार सिंह कार्यवाई नहीं की. थाने में आवेदन 24 सितम्बर 2022 को दिया .कार्रवाई नहीं होने से पीड़ित ने सीएम का दरवाजा खटखटाया सीएम ने जांच का जिम्मा आपको सौपा आपने 14 दिसंबर 2022 को आदेश दिए .लेकिन 16 जनवरी को प्राथमिक दर्ज हुई. इसका जवाब आपको देना चाहिए. इसलिए कि सुपौल के तमाम आमजनों की आप पर नजर टिकी हुई है .आपके आने से लोगों की उम्मीदें जगी है.अब न्याय मिलेगा आपके आने से लोगों को जरूर न्याय मिल रहा है.लगातार त्रिवेणीगंज थाना बदनामियों के घेरे में है .ऐसे में कैसे लोगों को इंसाफ मिलेगा. आप के निर्देश के बाद भी थाना प्रभारी महीनों दिन लगा दिए प्राथमिक दर्ज करने में। दीपक कुमार यादव पर पूर्व में भी संगीन धाराओं में त्रिवेणीगंज थाना कांड संख्या 232/ 2020 धारा 354a समेत अन्य धाराओं में कांड दर्ज है. उसके बाद कांड संख्या 44 /2021 के अलावे और भी दर्ज है. बावजूद  इन्हें पुलिस की कोई खौफ नहीं है. दिनभर थाने में जमे रहते है. देखना तो बड़ी बात होगी पुलिस द्वारा इस पर क्या कार्रवाई कर पाते हैं क्योंकि थाना प्रभारी संदीप कुमार सिंह के द्वारा लगातार इन्हें बचाने की प्रयास की लेकिन पुलिस के वरीय अधिकारी के निर्देश के आलोक में यह कांड दर्ज हुआ है.

व्हाट्सप्प आइकान को दबा कर इस खबर को शेयर जरूर करें

विज्ञापन बॉक्स (विज्ञापन देने के लिए संपर्क करें)


स्वतंत्र और सच्ची पत्रकारिता के लिए ज़रूरी है कि वो कॉरपोरेट और राजनैतिक नियंत्रण से मुक्त हो। ऐसा तभी संभव है जब जनता आगे आए और सहयोग करे
Donate Now
               
हमारे  नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट , और सभी खबरें डाउनलोड करें
डाउनलोड करें

जवाब जरूर दे 

क्या आप मानते हैं कि कुछ संगठन अपने फायदे के लिए बंद आयोजित कर देश का नुकसान करते हैं?

View Results

Loading ... Loading ...


Related Articles

Back to top button
Close
Website Design By Bootalpha.com +91 84482 65129