सुपौल एसपी की बड़ी कार्रवाई 72 घंटे के भीतर जनरल स्टोर संचालक को गोली मारने वाले गिरोह का भंडाफोड़ किया .

SUPAUL : खबर सुपौल जिले से आ रही है. जहां बीते रविवार की शाम अज्ञात अपराधियों ने जनरल स्टोर के संचालक को गोली मारकर मौत के घाट उतार दिया था. मृतक की बड़ी बहन रेनू देवी से फर्द बयान पर सुपौल सदर थाने में 131/23 दर्ज हुई. मृतक के बहन ने भाई के हत्या के आरोप मृतक अजय की पत्नी और उनके प्रेमी को आरोपी बनाया गया था .जिसके बाद सुपौल एसपी डी अमरकेश ने सतर्कता दिखाते हुए अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी के नेतृत्व में टीम गठित कर आरोपी की गिरफ्तारी हेतु कड़ी निर्देश दिया.पुलिस ने कांड में प्राथमिकी अभियुक्त विनोद कुमार पासवान को हिरासत में लेकर गहनता से पूछताछ की. विनोद पासवान ने हत्या की बात स्वीकार कर ली. इसके बाद मृतक पत्नी रीना देवी को पुलिस ने हिरासत में लिया.

प्रेमी संग मिलकर पत्नी ने करवाई थी पति की हत्या,

वही विनोद पासवान ने पुलिस को बताया कि करीब 7 वर्षों से रीना देवी से उनकी बातचीत होती थी. इसके उसका रीना देवी से नजदीकी संबंध बन गया था. इसके बाद विनोद का अजय कुमार विश्वास से कई बार झगड़ा भी हो गया. इसके उसके घर जाना बंद हो गया. रीना देवी नगर परिषद में आजीविका समूह में काम करती थी. इसी सिलसिले में बाहर आती जाती थी. इस दौरान मृतक अजय की पत्नी रीना देवी और विनोद कुमार पासवान मिलते-जुलते थे. जबकि अजय कुमार विश्वास ने अपनी पत्नी के चाल चलन को लेकर उसे घर से बाहर नहीं निकलने का दबाव देता था .इस बात पर दंपति में अक्सर झगड़ा होता था. इसके बाद भी रीना देवी और विनोद ने अजय को रास्ते से हटाने की प्लानिंग की.

सुपारी किलर से एक लाख 38000 में हुआ था सौदा.

जानकारी देते हुए एसपी सुपौल डी अमरकेश ने बताया अजय की हत्या सीने में गोली मारकर की गई. इसके बाद अजय की पत्नी ने रोने का ड्रामा किया. मृतक की बहन के बयान पर प्राथमिकी दर्ज की गई. पुलिस ने दोनों आरोपियों के साथ ही रेकी कर अजय की हत्या करवाने वाले शख्स को भी गिरफ्तार कर लिया है.फिलहाल सुपारी किलर पुलिस गिरफ्त से बाहर है. उनकी तलाश जारी है.अजय और रिना की शादी 2008 में हुई थी. उनके 14 वर्ष और 13 वर्ष के दो बच्चे भी हैं. रीना ने प्रेमी संग मिल पति की हत्या के लिए सुपारी किलर को सेट किया था. एडवांस 38 हजार रूपये कैश एवं अपने बैंक के द्वारा किसी और के माध्यम से किलर को दिया था. शेष एक लाख रकम घटना के बाद देने को बोला था घटना के समय एक लड़का को वहां भेजे थे. जो आरोपी को हत्या के बारे में जानकारी देता था. तथा जब जरूरत पड़ता तो आरोपी एवं उनके किलर को जानकारी देता था. जिनका नाम सुमित कुमार सिंह बताया जाता है जो रतनपुरा थाना ढाढा वार्ड नंबर 1 का निवासी है. पुलिस ने आरोपी के पास से घटना में प्रयुक्त मोबाइल एक काला रंग की हीरो स्प्लेंडर प्लस मोटरसाइकिल भी बरामद किया है.गिरफ्तार तीनों आरोपी को न्यायिक हिरासत में भेजा जा रहा है.

व्हाट्सप्प आइकान को दबा कर इस खबर को शेयर जरूर करें

विज्ञापन बॉक्स (विज्ञापन देने के लिए संपर्क करें)


स्वतंत्र और सच्ची पत्रकारिता के लिए ज़रूरी है कि वो कॉरपोरेट और राजनैतिक नियंत्रण से मुक्त हो। ऐसा तभी संभव है जब जनता आगे आए और सहयोग करे
Donate Now
               
हमारे  नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट , और सभी खबरें डाउनलोड करें
डाउनलोड करें

जवाब जरूर दे 

क्या आप मानते हैं कि कुछ संगठन अपने फायदे के लिए बंद आयोजित कर देश का नुकसान करते हैं?

View Results

Loading ... Loading ...


Related Articles

Back to top button
Close
Website Design By Bootalpha.com +91 84482 65129