सुपौल में लगातार अपराध कर बदमाश दे रहे पुलिस को चुनौती, दिनदहारे अज्ञात अपराधियों ने अंधाधुंध फायरिंग कर दो लोगों को मारी गोली, दोनों की हालत नाजुक,बेहतर इलाज के लिए  रेफर। 

सुपौल: बिहार के सुपौल अपराधियों की गढ़ माना जा रहा है एक के बाद एक वारदातों ने सुपौल पुलिस व्यवस्था की पोल खोल कर रख दी है. आए दिन हो रही आपराधिक घटनाओं से यहां के लोग अपने आप को असुरक्षित महसूस कर रहे हैं आखिरी कानून के राज का दावा करने वाली नितीश सरकार में यहां पर अपराध पर लगाम क्यों नहीं कसी जा रही है. पुलिस की कार्यशैली को देख लगता है मानो अगली घटना का इंतजार कर रही हो सुपौल में बीते 09 एवं 10 अप्रैल को हुए दोहरे हत्याकांड का चर्चा अभी थमी नहीं की तभी नए वारदात को अंजाम देकर बेखौफ बदमाश ( Supau Police) को एक बार फिर खुला चैलेंज दे रहे हैं. ताजा मामला जिले राघोपुर से आ रही है जहां राघोपुर थाना क्षेत्र के धरहरा में रविवार की दोपहर दिनदहारे अज्ञात अपराधियों ने अंधाधुंध फायरिंग कर कई लोगों पर गोली चला दिया। जिसमें दो लोग को गोली लगी।दोनों घायल को स्थानीय लोगों ने इलाज के लिए सिमराही स्थिति रेफरल अस्पताल पहुंचाया। जानकारी अनुसार रविवार की दोपहर लगभग 2:00 बजे धरहरा मंदिर के समीप स्थित टावर के पास छोटेलाल यादव और अजय चौधरी वगैरह पर कुछ हथियारबंद अपराधियों ने गोली चलाया । जिसमें कई गोली छोटेलाल यादव के छाती में लगा और कुछ गोली अजय कुमार के पैर में लगा । जबकि कई लोगो ने भागकर अपना जान बचाया। घायल को आनन-फानन में स्थानीय लोगों ने रेफरल अस्पताल पहुंचाया जहां उनका प्राथमिक उपचार कर बेहतर इलाज के लिए रेफर कर दिया है .घटना की सूचना पर राघोपुर थाना के एसआई विनय कुमार सिंह पुलिस दलबल के साथ रेफरल अस्पताल पहुंचकर गोली लगे लोगों का स्थिति का आकलन कर रहे हैं । वही गोली से घायल छोटेलाल यादव की पत्नी पवन कुमारी ने गोली मारने का आरोप धरहरा पंचायत के पंचायत समिति श्याम यादव के पुत्र एवं एक अन्य युवक पर लगाया है फिलहाल घायल छोटेलाल यादव की स्थिति नाजुक बना हुआ है। बताया गया की रामनवमी के अवसर पर शोभायात्रा में चंदा को लेकर स्थानीय कुछ लोगो से अनबन हो गया था। जिसको लेकर गोली मारा गया है। घटना को लेकर लोगो में पुलिस के प्रति नाराजगी देखा जा रहा है।

Reported By PAPPU ALAM

व्हाट्सप्प आइकान को दबा कर इस खबर को शेयर जरूर करें

विज्ञापन बॉक्स (विज्ञापन देने के लिए संपर्क करें)


स्वतंत्र और सच्ची पत्रकारिता के लिए ज़रूरी है कि वो कॉरपोरेट और राजनैतिक नियंत्रण से मुक्त हो। ऐसा तभी संभव है जब जनता आगे आए और सहयोग करे
Donate Now
               
हमारे  नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट , और सभी खबरें डाउनलोड करें
डाउनलोड करें

जवाब जरूर दे 

क्या आप मानते हैं कि कुछ संगठन अपने फायदे के लिए बंद आयोजित कर देश का नुकसान करते हैं?

View Results

Loading ... Loading ...


Related Articles

Back to top button
Close
Website Design By Bootalpha.com +91 84482 65129