नए बीडीओ आने के बाद बढ़ी आमजनों की मुसीबत, दलाल बिचौलियों के बिना नहीं होती है कोई कार्य, जानिए क्या कहा शिवसेना के उत्तर बिहार प्रमुख रामदेव यादव

सुपौल : जिले के त्रिवेणीगंज प्रखंड कार्यालय में जब से नए बीडीओ पंकज कुमार एवं उनके स्टाफ सरोज कुमार झा प्रखंड का कार्यभार संभाले हैं तब से भ्रष्टाचार और कदाचार का बोलबाला इस कदर ब्याप्त है कोई कार्य करवाने के लिए दलालों का सहारा लेना पड़ता है, प्रखंड विकास पदाधिकारी के स्तर पर भी भ्रष्टाचार और कदाचार का खुल्लमखुल्ला खेल बद्दस्तूर जारी है । प्रखंड कार्यालय में लगभग सभी पदों के अधीन दो से तीन नाजायज कर्मचारी को रखकर काम करवाया जाता है और घूसखोरी को इस तरह से जस्टीफाई किया जाता है कि काम के बोझ के कारण नाजायज कर्मचारी रखना पड़ता है जिसका सरकारी स्तर से कोई तनख्वाह नहीं है इसलिए इसकी भरपाई आम जनता से नाजायज पैसा लेकर किया जाता है ।बात यहीं नहीं रूकती है नाजायज कर्मचारियों ने भी अपने चार पांच दलालों और बिचौलियों को पालपोसकर रखे हुए हैं जो अपना काम कराने के लिए जाने वाली आम आदमी से मुंहमांगा वसूली करके काम कराते हैं,

पीड़ित जनता जब वर्तमान बीडीओ से इसकी शिकायत करती है तो उन्हें हीं झड़क दिया जाता है। यहाँ तक बोल दिया जाता है कि क्या जिलाधिकारी ,अनुमंडल अधिकारी या फिर न्यायलय में खुल्लेआम घुस नहीं लिया जाता है क्या वहां भ्रष्टाचार नहीं है I क्या वहां लेनदेन नहीं होता है । इतना ही नहीं यह बीडीओ पंकज कुमार ऊंचे ऊंचे पैरवी पहुंच भी बताते हैं, खुलेआम कहता है कोई कुछ नहीं कर सकता है हमको,ऐसी स्थिति में अधिकारीयों का यह जबाब सुनकर आखिर आम जनता क्या करे ? बीते 15 दिनों पहले इस बीडीओ पंकज कुमार का एक और काले कानून सामने आया था, बिना नोटिस दिए हुए एक व्यक्ति पर काड संख्या 214/23 दर्ज करा दी और उनसे मोटी रकम की मांग की, जब बीडीओ पंकज कुमार से पूछा गया, उन्होंने बताया थाने के द्वारा उन्हें नोटिस भेजा गया था, थाने वाला नहीं दिया तो हम क्या करें, जबकि किसी भी अनुदान की राशि वसूली के लिए लाभार्थी को एक नहीं तीन तीन बार नोटिस भेजा जाता है, मामला मुख्यमंत्री परिवहन योजना से ली गई‌ वाहन में व्यवसायिक नंबर नहीं लगवाने से जुड़ा हुआ था, जबकि पीड़ित ने बताया मुझे थाने से कोई नोटिस नहीं प्राप्त हुआ है, अब न्याय के लिए पीड़ित दर दर भटक रहे हैं, इससे आप अंदाजा लगा सकते हैं की त्रिवेणीगंज प्रखंड कैसे चलेगी , आखिरकार जिलाधिकारी किनके सहारे त्रिवेणीगंज की आमजनों को छोड़ दिया है, एक पदाधिकारी को भगवान का दुसरा रुप माना जाता है, उनसे लोग उम्मीद लगा करके जाते हैं कि वहां जरूर न्याय मिलेगा, समस्या का समाधान होगा, लेकिन जब अधिकारी ही लोगों को अन्याय की ओर धकेले तो इन बीडीओ पंकज कुमार को क्या माना जाए, क्या इन बीडीओ से लोगों को इंसाफ मिल पाएगा, यह सुपौल प्रशासन के लिए बहुत बड़ा सवाल है,

साहब का परिचय जान लीजिए।

बीडीओ पंकज कुमार के पिता डॉक्टर आरपी रमन पूर्व में त्रिवेणीगंज अनुमंडलीय अस्पताल में वर्षों से प्रतिनियुक्ति थे, त्रिवेणीगंज प्रखंड कार्यालय से लगभग तीन सौ मीटर की दूरी पर लालपट्टी पेट्रोल पंप के सामने दो मंजिल निजी मकान भी है, कुछ सालों पहले उनके पिता डॉक्टर आरपी रमन की देहांत हो गई, उस मकान में रेखा पॉली क्लिनिक चाईल्ड केयर सेंटर के नाम से नीजी अस्पताल चल रही है, उस अस्पताल में तीन डॉक्टर बैठते हैं, जिसमें डॉक्टर बी एन पासवान और दो अन्य ,डॉक्टर बी एन पासवान वर्तमान में अनुमंडलीय अस्पताल में प्रतिनियुक्ति है, डॉक्टर बी एन पासवान का परिचय आपको बता देते हैं, वर्तमान बीडीओ पंकज कुमार के खास बहनोई है,अब इन प्रखंड में इनका निजी मकान रहते हुए किन स्थिति में इनको बीडीओ बनाकर भेज दिया है, यह तो जांच का विषय है, बरहाल इन बीडीओ की कार्यशैली देख चौक चौराहे पर इनकी चर्चाएं तेज हो गई है, कुछ ऐसे भी मामले हैं जो आगे की खबर उजागर किया जाएगा, हम‌ बात करे त्रिवेणीगंज प्रखंड के तो यहां के पुर्व ग्रामीण विकास पदाधिकारी शैलेश कैशरी निगरानी विभाग के द्वारा दबोचा गए हैं। डेर साल पुर्व पैसे की लेनदेन का वीडियो वायरल होनो से वर्तमान महिला बीडीओ पर कार्यवाई हुई है.निवर्तमान परीक्ष्यमान बीडीओ निगम झा के उपर दलाल,बिचौलिया योजना माफिया के संरक्षक में नामित बीडीओ नियंत्रण कानून के विरुद्ध कार्य करने की कई मर्तबा गंभीर आरोप लगा , इतना होने के बाद भी यह प्रथा दिन प्रतिदिन बढ़ते ही जा रहा है. अब देखने वाली बात होगी डीएम साहब इस मामले को लेकर किस तरह से संज्ञान लेते हैं जिस पर सबकी नजर टिकी हुई है,

नामित बीडीओ की कार्यशैली को देख शिवसेना के उत्तर बिहार प्रमुख रामदेव यादव भड़क उठे उन्होंने अबिलंम इस नामित बीडीओ पर कार्रवाई की मांग की है, उन्होंने कहा यह बीडीओ आते हैं नियम कानून के विरोध कार्य करते हैं और जात-पात भी करते हैं रामदेव यादव ने कहा कि अगर इस बीडीओ पर कार्यवाई नही हुई तो मुख्यमंत्री को लिखा जाएगा, इस बाबत बीडीओ से पूछा गया तो उन्होंने इस मामले में कुछ भी बताने से परहेज कर दिया,

सुपौल से संवादाता मोहम्मद रहमतुल्ला की रिपोर्ट 

व्हाट्सप्प आइकान को दबा कर इस खबर को शेयर जरूर करें

विज्ञापन बॉक्स (विज्ञापन देने के लिए संपर्क करें)


स्वतंत्र और सच्ची पत्रकारिता के लिए ज़रूरी है कि वो कॉरपोरेट और राजनैतिक नियंत्रण से मुक्त हो। ऐसा तभी संभव है जब जनता आगे आए और सहयोग करे
Donate Now
               
हमारे  नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट , और सभी खबरें डाउनलोड करें
डाउनलोड करें

जवाब जरूर दे 

क्या आप मानते हैं कि कुछ संगठन अपने फायदे के लिए बंद आयोजित कर देश का नुकसान करते हैं?

View Results

Loading ... Loading ...


Related Articles

Back to top button
Close
Website Design By Bootalpha.com +91 84482 65129