सदन का सत्र और त्योहारों के कारण भीम संसद की तिथि में हुआ बदलाव, 26 नवंबर को होगा भव्य आयोजन- अशोक चैधरी

पटना:- गुरुवार को जनता दल (यू0) मुख्यालय के कर्पूरी सभागार में बिहार सरकार के भवन निर्माण मंत्री श्री अशोक चैधरी, मद्य निषेध एवं निबंधन मंत्री श्री सुनील कुमार एवं अनुसूचित जाति-जनजाति कल्याण मंत्री श्री रत्नेश सदा ने संयुक्त रूप से संवाददाता सम्मेलन को संबोधित किया। इस दौरान बिहार सरकार के भवन निर्माण मंत्री श्री अशोक चैधरी ने महत्वपूर्ण जानकारी देते हुए कहा कि जनता दल यू0 द्वारा 5 नवम्बर को पटना के वेटनरी काॅलेज ग्राउंड में जो भीम संसद का आयोजन किया जाना था। उसकी तारीख में अब बदलाव कर दिया गया है। दरअसल 6 नवम्बर से ही बिहार विधानसभा का सत्र शुरू हो रहा है और उसके बाद दीपावली और महापर्व छठ पर्व की अत्यधिक व्यस्तता रहेगी। इसको ध्यान में रखकर पार्टी ने निर्णय लिया है कि भीम संसद कार्यक्रम का आयोजन अब 26 नवम्बर को होगा। माननीय मुख्यमंत्री श्री नीतीश कुमार की ओर से भी 26 नवंबर को लेकर हम सभी को सहमति मिल चुकी है।

श्री अशोक चैधरी ने कहा कि भीम संसद कार्यक्रम को भव्यतम बनाने के लिए प्रदेश के 250 से अधिक जगहों पर दलित चैपाल का आयोजन अब तक किया गया है। इस कार्यक्रम को लेकर आम लोगों में काफी उत्साह नजर आ रहा है। श्री अशोक चैधरी ने कहा कि पहले समय की बाध्यता के कारण सभी टोलो एवं मोहल्लों में जाना मुश्किल होता था लेकिन अब चुकी भीम संसद की तारीख में बदलाव हुआ है तो हम सभी के पास पर्याप्त समय है। इस समय का हमलोग सदुपयोग करेंगे। पहले से अधिक जोरशोर से अब इसकी तैयारी चलेगी और अधिकतम लोगो तक पहुंचने का प्रयास किया जायेगा और सभी को आमंत्रित किया जायेगा।
उन्होंने कहा कि श्री नीतीश कुमार ने दलितों में भी सबसे कमजोर वर्ग को सबल और ताकतवर बनाने का काम किया। पहली बार उन्हें महादलित का नाम दिया गया। इस आयोजन का मुख्य मकसद दलित उत्थान में किए गए श्री नीतीश कुमार ने कार्यों को जन-जन तक पहुंचाना है और उन राजनीतिक दलों से भी सचेत करना है जो आरक्षण व्यवस्था को खत्म करना चाहते हैं। बेगूसराय की घटना पर केंद्रीय मंत्री श्री गिरिराज सिंह के बयान पर श्री अशोक चैधरी ने प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि बेगूसराय में जो भी घटना हुई है उसमें दोषी लोगों को चिन्हित कर कठोरतम करवाई सुनिश्चित की जाएगी लेकिन श्री गिरिराज सिंह ऐसे संवेदनशील विषयों पर अनर्गल बयान देकर समाज को बांटने की कोशिश करते हैं। भारतीय जनता पार्टी हिंदू-मुस्लिम के मुद्दों के सहारे अपनी राजनीतिक दुकान चलाती है। बेरोजगारी और महंगाई से उन्हें को कोई वास्ता नहीं है।


बिहार सरकार के मद्य निषेध एवं निबंधन मंत्री श्री सुनील कुमार ने कहा कि देश बचाओ, संविधान बचाओ और आरक्षण बचाओ हमारे इस भीम संसद कार्यक्रम का मूलमंत्र है। भीम संसद कार्यक्रम को लेकर प्रदेश की जनता बेहद उत्साहित है। उन्होंने कहा कि मौजूदा केंद्र सरकार संविधान के विरुद्ध कार्य कर रही है। हमारे देश का लोकतंत्र खतरे में है। इस विषय में भी आम जनता को जागरूक किया जायेगा। बाबा साहेब के संविधान के साथ छेड़छाड़ किसी भी सूरत में बर्दाश्त नहीं करेंगे।

26 नवंबर को संविधान विरोधी मोदी सरकार को सत्ता से उखाड़ फेंकने का संकल्प लिया जायेगा- रत्नेश सदा,

बिहार सरकार के अनुसूचित जाति-जनजाति कल्याण मंत्री श्री रत्नेश सदा ने कहा कि 26 नवबंर को बिहार की जनता केंद्र सरकार को सत्ता से उखाड़ फेंकने का संकल्प लेगी। इतिहास साक्षी रहा है कि जब जब बिहार ने अंगड़ाई लिया है तब तब देश की सत्ता में हलचल पैदा हुई है। संविधान विरोधी भाजपा के खिलाफ बिहार का दलित, महादलित, पिछड़ा, अतिपिछड़ा समाज 26 नवंबर को पटना में एकत्रित होकर पूरे देश को सन्देश देने का काम करेगा।
संवाददाता सम्मेलन में मुख्य रूप से पूर्व विधायक श्री अरुण मांझी, श्री रामेश्वर रजक, श्री कमल किरोड़ी, श्री रुबेल रविदास श्री राम कुमार राम एवं डाॅ0 हुलेष मांझी उपस्थित रहे।

पटना से विवेक कुमार यादव की रिपोर्ट

व्हाट्सप्प आइकान को दबा कर इस खबर को शेयर जरूर करें

विज्ञापन बॉक्स (विज्ञापन देने के लिए संपर्क करें)


स्वतंत्र और सच्ची पत्रकारिता के लिए ज़रूरी है कि वो कॉरपोरेट और राजनैतिक नियंत्रण से मुक्त हो। ऐसा तभी संभव है जब जनता आगे आए और सहयोग करे
Donate Now
               
हमारे  नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट , और सभी खबरें डाउनलोड करें
डाउनलोड करें

जवाब जरूर दे 

क्या आप मानते हैं कि कुछ संगठन अपने फायदे के लिए बंद आयोजित कर देश का नुकसान करते हैं?

View Results

Loading ... Loading ...


Related Articles

Back to top button
Close
Website Design By Bootalpha.com +91 84482 65129