पुलिस जिस अपराधी को बता रही है फरार, वो बेरोकटोक धुम रहे हैं घटना के 14 दिन बाद भी नहीं हो पाई मुख्य अपराधी की गिरफ्तारी, परिवार खौफ में जीवन जीने को विवश है।

SUPAUL: सुपौल के त्रिवेणीगंज अनुमंडल क्षेत्र में अपराध थमने का नाम नहीं ले रहा है। क्षेत्र में लगातार बढ़ रही आपराधिक घटनाओं से लोग दहशत में हैं। साथ ही लोगों में गुस्सा भी है। अपराधियों के बुलंद हौसले के आगे पुलिस पस्त नजर आ रही है। हद तो इस बात का है कि वारदात के बाद पुलिस प्राथमिकी दर्ज करने तक सीमित रह जाती है। कई मामलों का उछ्वेदन भी पुलिस नहीं कर पा रही है। यूं कहें कि अपराधियों में पुलिस का भय नहीं रह गया है। ऐसा ही कुछ मामला जिले के जदिया थाना से आ रही है, जदिया थाना कांड संख्या 280/23 में नामजद अभियुक्तों की गिरफ्तारी नही हो सकी बल्कि नामजद अपराधी दीपक कुमार यादव सहित अन्य अपराधी बेरोकटोक धुम रहे हैं, मजेदार बात यह है कि पुलिस बता रही है कि नामजद अपराधी दीपक कुमार यादव फरार है गिरफ्तारी के लिए छापेमारी की जा रही है,जिसको लेकर पुलिस के काम पर सवाल उठने लगे हैं। हालांकि इस मामले में डीएसपी विपिन कुमार त्रिवेणीगंज के द्वारा बताया गया कि जदिया थाना को निर्देश दे दिया गया है कि बहुत जल्द गिरफ्तार कर लिया जाएगा, धटना की चौदह दिन बाद भी आरोपियों दीपक कुमार यादव सहित अन्य अपराधी की गिरफ्तारी नहीं होने से परिजनों में आक्रोश है, यही कारण है कि पप्पू आलम का परिवार खौफ में जीवन जीने को विवश है। फिलहाल जख्मी युवक पटना अस्पताल में भर्ती है,

क्या था मामला

जहां बीते 6/11/23 मंगलवार को छ अपराधियों ने पिलवाहा चौक के सेट पुरब पप्पू आलम को दो बाइक सवार छ अपराधी बाइक चोरी का बताकर घेर लिया था, फीर उन्हें पिस्तौल कनपटी में सटाकर अपरहण कर हत्या करने की फिराक में अपराधी अपनी गाड़ी में बैठा रहा था, लेकिन पप्पू आलम अपराधी की गाड़ी में बैठने से इंकार करता रहा उसी पर अपराधियों के द्वारा पप्पू आलम को सिर पर पिस्तौल के वट से कई जगह मारकर बुरी तरह जख्मी कर दिया, जख्मी युवक के द्वारा शोर शराबा करने लगा तभी ग्रामीण एकत्रित हुए और ग्रामीणों द्वारा एक अपराधियों को पिस्तौल समेत खदेड़ कर पकड़ लिया, मुख्य आरोपी दीपक कुमार यादव अपने सहयोगी के साथ भागने में सफल रही, गोली कांड में नामजद अपराधियों की गिरफ्तारी नहीं होने को लेकर पप्पू आलम परिवार डर के साए में जीवन जी रहे, पप्पू आलम के बहन राजिना खातून लगातार थाना प्रभारी और डीएसपी त्रिवेणीगंज से अपराधियों की अभिलंब गिरफ्तारी एवं सुरक्षा की मांग कर रही है, उन्होंने डीएसपी बिपिन कुमार त्रिवेणीगंज को लिखित में भी आवेदन दिया है, अभिलंब मुझे सुरक्षा दिया जाए, मेरे और मेरे परिवार वाले की जान खतरे में है उसके बावजूद भी अभी तक पुलिस उन्हें कोई सुरक्षाकर्मी नहीं दी गई है, न्याय के लिए दर दर घूमते पीड़ित पक्ष का कहना है
नामजद अभियुक्त अभी भी उनको व परिवार के लोगो को डरा धमका रहे है ऐसे में कोई भी बड़ी घटना किसी वक्त घट सकती है,
उन्होंने एसपी शैशव यादव सुपौल से अपने सव परिवार की सुरक्षा एवं अपराधियों की अभिलंब गिरफ्तारी की मांग करते हुए, पूरे मामले की जांच एसआईटी गठित कर कराने की मांग रखी गई है।

व्हाट्सप्प आइकान को दबा कर इस खबर को शेयर जरूर करें

विज्ञापन बॉक्स (विज्ञापन देने के लिए संपर्क करें)


स्वतंत्र और सच्ची पत्रकारिता के लिए ज़रूरी है कि वो कॉरपोरेट और राजनैतिक नियंत्रण से मुक्त हो। ऐसा तभी संभव है जब जनता आगे आए और सहयोग करे
Donate Now
               
हमारे  नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट , और सभी खबरें डाउनलोड करें
डाउनलोड करें

जवाब जरूर दे 

क्या आप मानते हैं कि कुछ संगठन अपने फायदे के लिए बंद आयोजित कर देश का नुकसान करते हैं?

View Results

Loading ... Loading ...


Related Articles

Back to top button
Close
Website Design By Bootalpha.com +91 84482 65129