इस्लाम ने सेहत की हिफाजत के लिए इलाज का हुक्म दिया हैः अमिर शरीयत

फुलवारी शरीफ/ पटना: इमारत शरिया की देख रेख में चलने वाले मौलाना सज्जाद मेमोरियल हॉस्पिटल में निःशुल्क स्वास्थ्य शिविर का आयोजन किया गया। इस शिविर में हजारों मरीजों ने भाग लिया और डॉक्टरों से मुफ्रत इलाज और मुफ्रत दवाएं प्राप्त कीं। शिविर का प्रारंभ हजरत अमीर शरीयत की दुआ के साथ हुआ। अमीर शरीयत ने कहा कि इमारत शरीयत बिहार, ओडिशा और झारखंड , फुलवारी शरीफ, पटना एक प्राचीन कल्याण और कल्याणकारी संस्था है, जो इस्लाम की भावना को समझती है जिस तरह इसलाम के शुरूआत से लेकर आज तक के मुस्लिम साइंसदानों ने बड़े बड़े कारनामें अनजाम देते हुए मेडिकल कॉलेजों और विज्ञान संस्थानों की स्थापना की है, उसी तरह इमारत शरिया ने अन्य कल्याणकारी कार्यों के साथ-साथ सेहत को बेहतर रखने के लिए भी उसके के क्षेत्र में भी अपना एक महत्वपूर्ण योगदान दिया है जिसमें मौलाना सज्जाद मेमोरियल अस्पताल का नाम सबसे पहले आता है । उन्होंने कहा कि सेहत अल्लाह ताला की बड़ी नेमत है, इस्लाम ने सेहत की हिफाजत के लिए इलाज का हुक्म दिया है। स्वच्छता इस्लाम में सबसे महत्वपूर्ण आदेशों में से एक है। लोगों के स्वास्थ्य का ख्याल रखना और बीमारों का इलाज करना बहुत बड़ी भलाई है। हजरत अमीर शरीयत ने अस्पताल के कार्यवाहक सचिव डॉ- सैयद यासिर हबीब, डॉ- मुहम्मद तकी इमाम और अस्पताल की प्रबंधक खुरशीद परवीन और सभी डॉक्टरों, कर्मचारियों और सहायकों को शुभकामनाएं व्यत्तफ़ कीं। इमारत शरीया के कार्यवाहक सचिव मौलाना मुहम्मद शिबली अल-कासिमी ने कहा कि इमारत शरीया ने हमेशा इंसानों की सभी जरूरतों को ध्यान में रखते हुए अपने कदम उठाए हैं, इसी उद्देश्य से इमारत शरीया ने हमेशा इस्लामिक दिशानिर्देशों के अनुसार लोगों के बीच जागरूकता अभियान चलाया है। जिसके अनुसार इमारत शरीया ने तीस साल पहले मौलाना सज्जाद मेमोरियल अस्पताल की स्थापना की थी, जो आज अल्हम्दुलिल्लाह एक बड़ा अस्पताल बन गया है और देश, समाज और राष्ट्र के सभी वर्गों को बहुत लाभ पहुंचा रहा है। उनहों ने कहा कि इस शिविर का उद्देश्य वैसे लोग जो बहुत गरीब हैं जो जांच और इलाज के लिए भुगतान नहीं कर सकते उनकी खास सेवा करना है। यह काम इमारत शरीया के पलेटफार्म से हमेंश ही किया जाता है। लेकिन इस शिविर का विशेष उद्देश्य यह है कि जितना संभव हो सके अधिक से अधिक लोग इसका लाभ उठा सकें। मौलाना शिबली अल-कासमी ने बधाई देते हुए कहा कि मैं बधाई देता हुँ कार्यवाहक सचिव सैयद यासिर हबीब, मुहम्मद तकी इमाम, प्रबंधक खुर्शीद परवीन , इन गरीबों का इलाज करने वाले सभी डॉक्टर जिनहों ने गरीबों को बेहतर दवाएं लिखी और उनकी बेहतर रहनुमाई की और उन तमाम छोटे-बड़े सभी कार्यकर्ताओं को जिनकी कड़ी मेहनत से यह निःशुल्क शिविर सफल रहा। उन्होंने कहा कि आपकी सफलता से हमें हौसला मिला है, खुदा ने चाहा तो हजरत अमीर शरीयत के निर्देशानुसार अन्य जगहों पर भी मेडिकल कैंप लगाये जायेंगे ताकि अधिक से अधिक लोगों को इसका लाभ मिल सके।अस्पताल के कार्यवाहक सचिव सैयद यासिर हबीब ने कहा कि जिन मरीजों का नाम सूची में शामिल किया गया है, उनका जल्द ही मुफ्रत मोतियाबिंद का ऑपरेशन किया जाएगा, जबकि डॉ- मुहम्मद तकी इमाम ने शिविर में आए सभी मरीजों को धन्यवाद दिया- इस शिविर में शमिल होने वालो में डॉ- गुलाम मोहिउद्दीन अशरफी, डॉ- नजीर अहमद खान , डॉ- सैयद यासिर हबीब, डॉ- मुहम्मद तकी इमाम, प्रबंधक खुर्रशीद परवीन , श्री एसएए नौशाद, डॉ- अबू बकर नजमी, डॉ- शबाना परवीन, डॉ- हेरा, डॉ- -मुहम्मद शादाब, डॉ- फौजिया शफी, डॉ- राणा शमीम, डॉ- रजिया शाहीन, डॉ- नाहिद फातिमा, डॉ- मेहबूब आलम, डॉ- अजीत कुमार, डॉ- फहद नसीम के अलावा अस्पताल के सभी स्टाफ ने भाग लिया।

पटना, फुलवारी शरीफ से  मो० गयासउद्दीन उर्फ रिंकू

व्हाट्सप्प आइकान को दबा कर इस खबर को शेयर जरूर करें

विज्ञापन बॉक्स (विज्ञापन देने के लिए संपर्क करें)


स्वतंत्र और सच्ची पत्रकारिता के लिए ज़रूरी है कि वो कॉरपोरेट और राजनैतिक नियंत्रण से मुक्त हो। ऐसा तभी संभव है जब जनता आगे आए और सहयोग करे
Donate Now
               
हमारे  नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट , और सभी खबरें डाउनलोड करें
डाउनलोड करें

जवाब जरूर दे 

क्या आप मानते हैं कि कुछ संगठन अपने फायदे के लिए बंद आयोजित कर देश का नुकसान करते हैं?

View Results

Loading ... Loading ...


Related Articles

Back to top button
Close
Website Design By Bootalpha.com +91 84482 65129