बिहार की इन 14 लोकसभा सीटों पर चुनाव लड़ेगी (AIMIM) बढ़ सकती है महागठबंधन की मुश्किलें

Desk : इस वक्त बिहार से बड़ी खबर सामने आ रही है. दरअसल असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी ऑल इंडिया मजलिस इत्तेहादुल मुस्लिम यानी एआईएमआईएम बिहार में 14 सीटों पर चुनाव लड़ेगी, गुरुवार को पार्टी में तीन और लोकसभा सीटों पर अपना उम्मीदवार उतरने की घोषणा की है, गोपालगंज ,शिवहर, पाटलिपुत्र से चुनाव लड़ेगी यही नहीं पार्टी ने मधुबनी सीट पर चुनाव लड़ने का भी विचार कर रही है, गुरुवार को पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष अख्तरुल इमान ने पत्रकारों से बात करते हुए यह घोषणा की है उन्होंने सिवान लोकसभा सीट से हिना साहब को समर्थन देने का भी घोषणा की है कहां यदि वे चुनाव लड़ती है तो हमारी पार्टी उनका समर्थन करेगी, अख्तरुल इमान ने 50% सीट पर गैर मुस्लिम को टिकट देने का भी ऐलान किया है पार्टी पहले ही बिहार में पिछले दिनों 11 सीटों पर चुनाव लड़ने की घोषणा कर चुकी है, इसमें सीमांचल के चारों सीटों किशनगंज ,अररिया, अररिया कटिहार, पूर्णिया के अलावा दरभंगा ,बक्सर, गया, मुजफ्फरपुर, उजियारपुर, काराकट व भागलपुर शामिल है, हालांकि बाद में उसने गया सीट से अपनी उम्मीदवारी वापस ले ली। इस प्रकार एआईएमआईएम बिहार में 14 सीटों पर चुनाव लड़ेगी, किशनगंज लोकसभा सीट से अमोर के विधायक तथा एआईएमआईएम की प्रदेश अध्यक्ष अख्तरुल ईमान खुद चुनाव लड़ेंगे, वही पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता सह प्रदेश युवा अध्यक्ष आदिल हसन आजाद कटिहार से चुनाव लड़ेंगे ,पाटलिपुत्र से मोहम्मद फारूक राजा उर्फ़ डब्ल्यू प्रत्याशी होंगे, काराकाट लोकसभा से प्रियंका गांधी प्रत्याशी होंगे,

अब तक इन सीटों से चुनाव लड़ने की हो चुकी है घोषणा,

किशनगंज, अररिया ,कटिहार पूर्णिया ,दरभंगा, बक्सर,,गया, मुजफ्फरपुर, उजियारपुर काराकट ,भागलपुर, गोपालगंज शिवहर पाटलिपुत्र, दरभंगा, मधुबनी,

एआईएमआईएम ने जिन 14 सीटों पर चुनाव लड़ने की घोषणा की है उनमें सात पर भाजपा, पांच पर जदयू और एक पर रालोमो के उम्मीदवार मैदान में हैं। उन्होंने सीवान लोकसभा सीट से हीना शहाब को समर्थन देने की भी घोषणा की। कहा कि यदि वे चुनाव लड़ती हैं तो हमारी पार्टी उनका समर्थन करेगी।

AIMIM के घोषणा से बिहार का सियासी तापमान और गर्मा गया है. दर असल AIMIM का चुनावी मैदान में उतरना और 14 सीटों पर उम्मीदवार उतारना महा गठबंधन के लिए बड़ा झटका माना जा सकता है क्योंकि AIMIM ने जिन लोकसभा सीटो पर उम्मीदवार उतारने की बात कही है उसमें अधिकांश सीट मुस्लिम बाहुल्य वाली सीट है जो महा गठबंधन के वोटर माने जाते हैं. प्रदेश अध्यक्ष अख्तरुल इमान ने कहा कि सेक्युलरिज्म के नाम पर केवल दलितों और मुसलमान का शोषण हो रहा है, उन्होंने कहा दलित और मुसलमान की वोट लेता रहा है लेकिन उनकी हिस्सेदारी तय नहीं हुई, उन्होंने कहा कि जाति आधारित जनगणना के बाद यह तस्वीर साफ हो चुकी है कि दलित और अकलियतों की की हिस्सेदारी समाज में सबसे कम है उन्होंने दलितों और अकलियतों की सरकारी नौकरियों से सबसे कम होने के भी बात कही है, आज तक बीजेपी, आरजेडी, कांग्रेस ने गरीबों अकलियतों का शोषण किया है, इसलिए अबकी बार आवामो ने ठाना है सब ने दिया है हमको चोट अबकी बारी अपनी पार्टी अपनी वोट,

 

व्हाट्सप्प आइकान को दबा कर इस खबर को शेयर जरूर करें

विज्ञापन बॉक्स (विज्ञापन देने के लिए संपर्क करें)


स्वतंत्र और सच्ची पत्रकारिता के लिए ज़रूरी है कि वो कॉरपोरेट और राजनैतिक नियंत्रण से मुक्त हो। ऐसा तभी संभव है जब जनता आगे आए और सहयोग करे
Donate Now
               
हमारे  नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट , और सभी खबरें डाउनलोड करें
डाउनलोड करें

जवाब जरूर दे 

क्या आप मानते हैं कि कुछ संगठन अपने फायदे के लिए बंद आयोजित कर देश का नुकसान करते हैं?

View Results

Loading ... Loading ...


Related Articles

Back to top button
Close
Website Design By Bootalpha.com +91 84482 65129